Monday, February 13, 2012

नेता जी...

पांच साल के बाद दर्शन दिए है नेता जी॥
पूछो क्या क्या काम क्षेत्र में किये है नेता जी॥
बिजली पानी की बहुत किल्लत॥
दूर बहुत स्कूल,,
कच्ची सड़क पे धुल उड़त है॥
कैसे मिले सुकून,,
जनता कय हिस्सा खाय गए...
घपला किये है नेता जी...
गाँव मा केतनी मैयत होय गय॥
केतना भावा उत्पात॥
आवारा लरिका केतना तहरत है...
के पूछे उनके हाल...
नन्कौवा के नौकरी के खातिर॥
रिश्वत लिए है नेता जी...

No comments:

Post a Comment

आपका बहुत - बहुत शुक्रिया जो आप यहाँ आए और अपनी राय दी,हम आपसे आशा करते है की आप आगे भी अपनी राय से हमे अवगत कराते रहेंगे!!
--- संजय सेन सागर

लो क सं घ र्ष !: राजीव यादव की सरकारी हत्या का प्रयास

आजादी के बाद से आज तक के इतिहास में पहली बार भोपाल कारागार से आठ कथित सिमी कार्यकर्ता कैदियों को निकाल कर दस किलोमीटर दूर ईटी  गांव में...