Friday, March 4, 2011

neta ji ki sadbhavna

 
राजनीति में आकर हर खेल खेल जाते हैं ;
जीत न मिली तो भारी  हार झेल जाते हैं ,
जिनके खिलाफ बोलकर हम वोट मांगते हैं
वो सामने पड़ जाये तो ''सद्भाव '' दिखाते हैं .
                                                               
                                                 शिखा कौशिक
                                     http://netajikyakahtehain.blogspot.com/

1 comment:

  1. bahut sahi bat kahi.netaon ki ye hi bat,
    milte,batiyate,karte ghat..

    ReplyDelete

आपका बहुत - बहुत शुक्रिया जो आप यहाँ आए और अपनी राय दी,हम आपसे आशा करते है की आप आगे भी अपनी राय से हमे अवगत कराते रहेंगे!!
--- संजय सेन सागर

लो क सं घ र्ष !: राजीव यादव की सरकारी हत्या का प्रयास

आजादी के बाद से आज तक के इतिहास में पहली बार भोपाल कारागार से आठ कथित सिमी कार्यकर्ता कैदियों को निकाल कर दस किलोमीटर दूर ईटी  गांव में...