Tuesday, February 22, 2011

neta ji ka andaj !


नेता जी का अंदाज !

जनता ने बहुमत दिया  ,इसमें है एक राज ,
सुन लेना तुम गौर से ;बतलाता हूँ आज ,
नोट के बदले वोट का ;नहीं मेरा अंदाज ,
मैंने तो बटवाये   थे ; घर-घर  बस कुछ
                   ''प्याज''
                                                   शिखा कौशिक
http://netajikyakahtehain.blogspot.com/ 

2 comments:

  1. वाह! क्या बात है!!
    बिल्कुल हिन्दुस्तान का दर्द है यह!!!

    ReplyDelete
  2. आपकी प्रस्तुति प्रशंसनीय है.बहुत सुन्दर भावाभिव्यक्ति. प्रस्तुति.aabhar ..

    ReplyDelete

आपका बहुत - बहुत शुक्रिया जो आप यहाँ आए और अपनी राय दी,हम आपसे आशा करते है की आप आगे भी अपनी राय से हमे अवगत कराते रहेंगे!!
--- संजय सेन सागर

लो क सं घ र्ष !: राजीव यादव की सरकारी हत्या का प्रयास

आजादी के बाद से आज तक के इतिहास में पहली बार भोपाल कारागार से आठ कथित सिमी कार्यकर्ता कैदियों को निकाल कर दस किलोमीटर दूर ईटी  गांव में...