Saturday, February 5, 2011

प्रणव दा का अलादीन का चिराग ...

केंद्र सरकार को पूरी तरह से भ्रस्टाचार और महंगाई में डुबो देने के बाद केन्द्रीय मंत्री प्रणव मुखर्जी अब बिहार की तर्ज़ पर बंगाल को डूबा देने की तय्यारी में हे और इस दोरान केंद्र की महंगाई के मामले में जब उनसे सवाल पूंछा गया तो वो नाराज़ हो गये और कहने लगे के मेरे पास कोई अलादीन का चिराग नहीं हे जो में महंगाई कम कर दूंगा । सही भी हे प्रणव जी और कोंग्रेस इतिहास में अब तक की सबसे अक्षम सरकार साबित हुई हे प्रणव जी का कहना हे के वोह बेबस हे अलादीन का चिराग उनके पास नहीं हे तो भाई राष्ट्र हित में वोह पद छोड़ दे और कुछ केवल कुच्छ दिनों के लियें हमारे ब्लोगर भाइयों में से किसी एक को यह पद दे दें फिर देख लें किस तरह से अलादीन का चिराग महगाई नियंत्रित करने के लियें आ जाता हे हाँ बस जिन लोगों से महंगाई बढाने और मुनाफा कमवाने के लियें इस सकरार ने रिश्वत ली हे बस वोह सब लोग जेल में होंगे और जो जो रिश्वत खोर होगा उसे भी जेल जाना होगा खुद बा खुद देश में मूल्य व्रद्धी रुक जायेगी जमाखोरी कम होगी तो मुनाफाखोरी रुकेगी वायदा व्यापार रुकेगा तो खाध्य पदार्थों के भाव गिरेंगे लेकिन यह प्रणव दा हे समझदार हें समझ गये हें के कोंग्रेस हाईकमान जो लोग भ्रष्ट और जनविरोधी फेसले करते हें उसे ही प्रधानमन्त्री बनाता हे बस इसलियें प्रणव दा भी खुद को प्रधानमन्त्री बनाये जाने का सपना देख रहे हें । वेसे भी देश में बी राज्यों के चुनाव आ रहे हें और इसीलियें बिहार में जेसे कोंग्रेस खत्म की हे वेसे ही बंगाल में भी कोंग्रेस के खात्मे की योजना बनाई जा रही हे ........... ।
इधर हमारे प्रधानमन्त्री जी भ्रस्टाचार के मुद्दे पर खामोश तमाशा देखते रहे और जब खुद के सर पर बन आई खुद के विभाग से निकली पत्रावलियों में भ्रस्ताचार खुल कर बोलने लगा तब कहीं बोले हे के अब तो शर्म करो भाई प्रधान मंत्री जी जब आप को शर्म नहीं हे तो आपके अधीनस्थ पागल हे जो शर्म करेंगे इसलियें देश की अगर चिंता हे तो खुद को अपनी नादानियों,नाकामयाबियों के लियें कानून के हवाले करो और जनता को आमंत्रित कर खुद जनता की अदालत से सजा पाने का एलान करो ताकि आखरी वक्त में थोड़े बहुत पाप धूल जायेंगे ....... । अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

No comments:

Post a Comment

आपका बहुत - बहुत शुक्रिया जो आप यहाँ आए और अपनी राय दी,हम आपसे आशा करते है की आप आगे भी अपनी राय से हमे अवगत कराते रहेंगे!!
--- संजय सेन सागर

लो क सं घ र्ष !: राजीव यादव की सरकारी हत्या का प्रयास

आजादी के बाद से आज तक के इतिहास में पहली बार भोपाल कारागार से आठ कथित सिमी कार्यकर्ता कैदियों को निकाल कर दस किलोमीटर दूर ईटी  गांव में...