Tuesday, February 1, 2011

मतलब नहीं रहा... 
हम तुमसे मिलने आयें हैं सब काम छोड़कर ,
तुम पर ही हमसे मिलने को वक़्त  न हुआ.
$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$
सुनना तो चाहते थे तुमसे बहुत कुछ मगर ,
तुमने ही हमसे अपने दिल का हाल न कहा.
$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$
गायब तो तुम ही हो गए थे बीच राह में,
मिलने को तुमसे हमने कितनी बातों को सहा.
$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$
सब कुछ गवां के हमने रखी दोस्ती कायम,
तुम कहते हो हमसे कभी मतलब नहीं रहा.
$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$

4 comments:

  1. बहुत खूबसूरत भावाभिव्यक्ति ....

    ReplyDelete
  2. अच्छे भाव...कलापक्ष को और अच्छा करें....

    ReplyDelete
  3. क्या बात.... क्या बात.... क्या बात...!!!

    ReplyDelete
  4. kya baat hai bato bato me sab kucch suna diya

    ReplyDelete

आपका बहुत - बहुत शुक्रिया जो आप यहाँ आए और अपनी राय दी,हम आपसे आशा करते है की आप आगे भी अपनी राय से हमे अवगत कराते रहेंगे!!
--- संजय सेन सागर

लो क सं घ र्ष !: राजीव यादव की सरकारी हत्या का प्रयास

आजादी के बाद से आज तक के इतिहास में पहली बार भोपाल कारागार से आठ कथित सिमी कार्यकर्ता कैदियों को निकाल कर दस किलोमीटर दूर ईटी  गांव में...