Wednesday, January 12, 2011

अप्राकृतिक सेक्‍स की देन वाइफ स्‍वैपिंग

जैसे जैसे समाज बोल्‍ड होता जा रहा है रिश्‍तों के कई नए नए रूप सामने आ रहे हैं। इन दिनों समाज में वाइफ स्‍वैपिंग का कांसेप्‍ट चर्चा का विषय बना हुआ है क्‍योंकि भारतीय समाज अभी इतना बोल्‍ड नहीं हुआ है जो इस तरह के रिश्‍तों को समाज में जगह दे। शहर के बड़े बड़े होटलों में यह खेल खुले आम खेला जाता है कभी चाबी बदलकर,तो कभी अंकों के मायाजाल से,लेकिन हैरत की बात यह है की आज मर्दों के साथ साथ औरतें भी इस खेल में रूचि ले रही है,अपने मर्द की गैरमौजूदगी में भी औरत को यह खेल खेलने में ऐतराज़ नहीं है. कई बार खबरों की सुर्खियों में रहा यह मामला लोगों के लिए जिज्ञासा बना हुआ है कि आखिर लोग ऐसा क्‍यों करते हैं? इसके पीछे उनकी क्‍या मानसिकता होती है?क्या कुछ दिनों में यह खेल देश के हर कोने में पैर पसार लेगा?


क्‍या है वाइफ स्‍वैपिंग

इसके तहत लोग अपनी पत्‍नी को दूसरे पुरुष के साथ संबंध बनाने की छूट देते हैं। इसमें पति पत्‍नी दोनों की सहमती रहती है। दो पुरुष आपस में पत्‍नी बदलते हैं लेकिन कई बार यह दायरा बढ़कर 4 या 6 भी हो सकता है।


अप्राकृतिक सेक्‍स की प्रवृति

मनोवैज्ञानिक विनय मिस्रा का कहना है कि भले ही वाइफ स्‍वैपिंग समाज में अपनी जगह बना रहा है लेकिन यह रिश्‍तों के लिए डिजास्‍टर से कम नहीं है। इन दिनों एडवेंचर और फन के लिए अप्राकृतिक सेक्‍स करने की प्रवृति लोगों में बढ़ रही है। लीक से हटकर सेक्‍स डिजायर की पूर्ति के लिए वाइफ स्‍वैपिंग जैसे कार्य करने के लिए प्रेरित होते हैं। वहीं कुछ लोग लंबे समय तक एक पार्टनर के साथ रहकर बोर हो जाते हैं। इस बोरडम से बचने के लिए भी ऐसा करते हैं।

ऐसे लोग बीमार नहीं होते न ही उपेक्षित होते हैं बल्कि भारतीय समाज सेक्‍स एक्टिविटी को बहुत दबाकर रखा जाता है। यह मानव प्रवृति है कि लंबे समय तक अगर किसी क्रिया को दबाकर रखा जाए तो वह समाज के बनाए नियमों के विरुद्ध कार्य करने लगता है। वाइफ स्‍वैपिंग के माध्‍यम से लोग अपनी दमित फैंटेसी की भी पूर्ति करते हैं।

आमतौर पर देखा गया है कि संकीर्ण सोच वाले लोग इसमे संलीप्‍त रहते हैं। संकीर्ण सोच होने के कारण महिलाओं से हेल्‍दी रिलेशन नहीं रख पाते हैं। दूसरी महिलाओं का सानिध्‍य पाने के लिए यह रास्‍ता अपनाते हैं। ये समाज से छुपकर यह कार्य करते हैं क्‍योंकि इन्‍हें अपने इमेज की भी काफी चिंता होती है।


खत्‍म हो जाते हैं रिश्‍ते

कपल अगर वाइफ स्‍वैपिंग में संलग्‍न होते हैं तो उनके आपसी रिश्‍ते खत्‍म हो जाते हैं। क्‍योंकि भारतीय समाज में मैरिज विश्‍वास पर टिका होता है। इस तरह के रिश्‍ते के कारण दोनों का एक दूसरे के उपर से विश्‍वास खत्‍म हो जाता है। फैमिली लाइफ प्रभावित होती है। दोनों के बीच पहले जैसे रिश्‍ते नहीं रहते हैं। यह फैमिली लाइफ के लिए किसी शाप से कम नहीं है।


क्‍या है इनकी पहचान

समाज में ऐसे लोगों की पहचान आसानी से किया जा सकता है। आमतौर पर ये पार्टियों में शिरकत करते हैं। पार्टी में अगर कोई अन्‍य पुरुष उसकी पत्‍नी में रूचि लेता है तो वे उसकी परवाह नहीं करते बल्कि पत्‍नी को दुसरे पुरुषों को आकर्षित करने के लिए प्रेरित करते हैं। समलैंगिक की तरह ऐसे कपल अपनी तरह की सोच वाले कपल को आसानी से पहचान लेते हैं। उनका बॉडी लैंग्‍वेज और व्‍यवहार आम कपल से बहुत अलग होता है।


12 comments:

  1. बल्कि भारतीय समाज सेक्‍स एक्टिविटी को बहुत दबाकर रखा जाता है। यह मानव प्रवृति है कि लंबे समय तक अगर किसी क्रिया को दबाकर रखा जाए तो वह समाज के बनाए नियमों के विरुद्ध कार्य करने लगता है।

    ---huzoor, aap ka vishay va aalekh uchit hai ...par bhaarateey samaaz ke baare men jo oopar kot kiyaa vaktavy sahee naheen hai ---galat uddaran se galat maseg jata hai...
    ---BATAYEN FIR WESTERN KHULE SAMAAZ MEN YAH KYON PRACHALIT HUA JISAKEE AAJ HAM NAKAL KAR RAHE HAIN....HAM KAB APANE AAP KO NEECHAA SAMAJHANA BAND KARENGE...

    ReplyDelete
  2. Wonderful website. A lot of useful info here. I'm sending it to a few buddies ans also sharing in delicious. And of course, thanks for your effort!

    my web blog :: Beta Force Muscle Building

    ReplyDelete
  3. Great blog you have got here.. It's difficult to find excellent writing like yours nowadays. I seriously appreciate people like you! Take care!!

    Here is my web-site :: Xtrasize Male Enhancement

    ReplyDelete
  4. I am now not positive the place you are getting your information, however
    good topic. I needs to spend some time studying more
    or figuring out more. Thanks for excellent information I
    was on the lookout for this information for my mission.

    Feel free to visit my website ... Order Pur Essence

    ReplyDelete
  5. Useful info. Fortunate me I found your site unintentionally, and I'm surprised why this twist of fate didn't came about
    earlier! I bookmarked it.

    Here is my web-site :: Download Muscle Maximizer

    ReplyDelete
  6. WOW just what I was searching for. Came here by searching for anti aging foundations

    Here is my web-site; Le parfait wrinkle cream

    ReplyDelete
  7. Appreciate the recommendation. Let me try it
    out.

    my web page ... Garcinia Cambogia Supplement

    ReplyDelete
  8. I was recommended this website by my cousin. I'm not sure whether this post is written by him as no one else know such detailed about my problem. You're incredible!
    Thanks!

    Here is my website; Grow XL Review

    ReplyDelete
  9. bookmarked!!, I like your web site!

    Also visit my site ... Le Parfait Reviews

    ReplyDelete
  10. For the reason that the admin of this web site is working,
    no doubt very quickly it will be well-known, due to its quality contents.


    Feel free to visit my web blog - Wrinkle cream

    ReplyDelete
  11. Have you ever thought about adding a little bit more than just your articles?
    I mean, what you say is valuable and everything.
    However just imagine if you added some great photos or
    video clips to give your posts more, "pop"!
    Your content is excellent but with pics and videos, this website could undeniably be one of
    the very best in its field. Great blog!

    Visit my site: muscle enhancers

    ReplyDelete
  12. It's truly very complicated in this full of activity life to listen news on TV, therefore I simply use internet for that purpose, and take the newest information.

    Take a look at my web site - Skin care

    ReplyDelete

आपका बहुत - बहुत शुक्रिया जो आप यहाँ आए और अपनी राय दी,हम आपसे आशा करते है की आप आगे भी अपनी राय से हमे अवगत कराते रहेंगे!!
--- संजय सेन सागर

लो क सं घ र्ष !: राजीव यादव की सरकारी हत्या का प्रयास

आजादी के बाद से आज तक के इतिहास में पहली बार भोपाल कारागार से आठ कथित सिमी कार्यकर्ता कैदियों को निकाल कर दस किलोमीटर दूर ईटी  गांव में...