Thursday, November 4, 2010

ऑर्कुट प्रेमिका की बेवफाई में मेडिकल स्टूडेंट ने दे दी जान

अगरतला. ऑर्कुट पर एक लड़की के प्यार में पागल हुए एक मेडिकल स्टूडेंट ने लड़की के तवज्जों न देने के बाद आत्महत्या कर ली।


यह सनसनीखेज मामला त्रिपुरा की राजधानी अगरतला का है। अगरतला गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज का छात्र रूपकनाथ की दोस्ती सोशल नेटवर्किंग साइट ऑर्कुट पर एक लड़की से हुई। इंटरनेट पर बनी दोस्त के प्यार में रूपक पागल हो गया।


रूपक की इंटनेट प्रेमिका दक्षिण भारत के एक कॉलेज से पढ़ाई कर रही है। पुलिस के मुताबिक रूपक के दोस्तों ने उसकी इंटरनेट प्रेमिका रूबी (परिवर्तित नाम) के फोन कॉल आने के बाद जब उसके कमरे में जाकर देखा तो पंखे से लटका हुआ पाया।


रूबी ने फोन कर उसके दोस्तों को बताया था कि सुबह से उसका फोन नहीं उठा रहा है। इस पर रूपक के दोस्त उसके हॉस्टल कमरे की ओर भागे। कमरा अंदर से बंद था। दरवाजा तोड़कर अंदर घुसा गया तो रूपक का शव पंखे से लटक रहा था।


मरने से पहले रूपक ने अपने कमरे की दीवारों पर अपने खून से प्रेमिका का नाम लिख दिया था। आत्महत्या करने से पहले रूपक ने अपने शरीर पर घाव भी किए थे।


रूपक ने अपने ऑरकुट प्रोफाइल पर लिखा है कि वो एक लड़की से बेहद प्यार करता है। उसने लिखा है कि मेरी प्रेमिका मुझे छोड़ना चाहती है। वो नहीं जानती कि मैं उसे कितना प्यार करता हूं।


रूपक ने अपने प्रोफाइल में लड़की के पिता (जो की एक डॉक्टर हैं) से भी आग्रह किया है कि वो उनकी बेटी से शादी करना चाहता है।


अपनी स्क्रेपबुक में भी रूपक ने लिखा है कि वो रूबी से बहुत प्यार करता है और उसके बिना नहीं रह सकता।


6 comments:

  1. ये बहुत दुखद हुआ... जिन्दगी इतनी सस्ती भी नहीं लेकिन कभी कभी उद्वेग हावी हो जाते हैं..

    ReplyDelete
  2. aaj ke ladkon ko noutanki ke alava aata hi kya hai

    ReplyDelete
  3. सही कहा आपने जिंदगी इतनी सस्ती नहीं है,मेरे ख्याल से तो उन २० दिनों की मोहोब्बत से जायदा २० साल पुराना वो रिश्ता अहम् लगता है जो जन्म से हमारे साथ है....मोहोब्बत हो सकती है सब करते है लेकिन अंजाम हमें कुछ ऐसा बनाना होता है जिसे याद करके खुद पर फक्र महसूस कर सके...मेरे ख्याल से यह प्यार नहीं था..सिर्फ पागलपन था..

    ReplyDelete
  4. are kahan aap भी aaj ke din kaisi kaisi baatein nikaal kar baith gayin...
    आपको और आपके परिवार को दिवाली की शुभकामनाएं..

    ReplyDelete
  5. दिवाली यह पर्व आपको एवं आपके परिवार को बहुत बहुत मुबारक..आपका का जीवन मंगलमय हो..!

    ReplyDelete
  6. सही कहा सन्जय, यह प्यार नहीं पागलपन, अग्यान व आत्मविश्वास की कमी है; प्यार तो न जान देता है न लेता है बस प्रेमी पर प्यार लुटाता है चाहे दूर हो या पास, चाहे साथ हो या किसी और के साथ....

    ReplyDelete

आपका बहुत - बहुत शुक्रिया जो आप यहाँ आए और अपनी राय दी,हम आपसे आशा करते है की आप आगे भी अपनी राय से हमे अवगत कराते रहेंगे!!
--- संजय सेन सागर

लो क सं घ र्ष !: राजीव यादव की सरकारी हत्या का प्रयास

आजादी के बाद से आज तक के इतिहास में पहली बार भोपाल कारागार से आठ कथित सिमी कार्यकर्ता कैदियों को निकाल कर दस किलोमीटर दूर ईटी  गांव में...