Thursday, November 25, 2010

मुकेश अंबानी के ‘शाही महल’ का बिजली बिल 70 लाख !


मुंबई. दुनिया के सबसे धनी भारतीयों में से एक मुकेश अंबानी के एंटिलिया इमारत का पहले महीने का बिल 70,69488 रुपये आया है। वे अपने परिवार और मां के साथ पिछले महीने ही इस आलिशान इमारत में रहने गये हैं। 27 मंजिला एंटिलिया में सितंबर महीने में 6,37,240 यूनिट बिजली इस्तेमाल की। बताया जा रहा है कि मुकेश अंबानी ने समय से बिजली बिल का भुक्तान किया, जिसकी वजह से बेस्ट ने उन्हें बिजली बिल में करीब 48,354 रुपये की छूट दी।


फिर विवादों में घिरा अंबानी का ‘शाही महल’


रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी का 27 मंजिला ‘शाही महल’ एंटिलिया फिर विवादों के घेरे में है। केंद्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) ने कथित रूप से एंटिलिया का निर्माण वक्फ बोर्ड की जमीन पर किये जाने की शिकायत को संज्ञान लेते हुए महाराष्ट्र सरकार को इस बारे में रिपोर्ट देने को कहा है। महाराष्ट्र राज्य वक्फ बोर्ड के सदस्य एवं वकील अहमद खान पठान का कहना है कि उन्होंने मई 2008 को अल्पसंख्यक मामलों के तात्कालीन केंद्रीय मंत्री ए.आर. अंतुले के पास एक लिखित आरोप शिकायत की थी। जिसमें उन्होंने कहा था कि एंटिलिया का निर्माण वक्फ बोर्ड की 4,532 वर्ग मीटर जमीन का अवैध ढंग से अधिग्रहण कर किया जा रहा है। पठान का आरोप है कि महाराष्ट्र राज्य वक्त बोर्ड ने इस जमीन को 2003 में महज 210.50 मिलियन रुपये में एंटिलिया कमर्शियल को बेच डाला, जबकि इस की उस वक्त खुले बाजार में कीमत 5 हजार मिलियन से कम नहीं थी।


उन्होंने बताया कि आदर्श आवास घोटाले का मामला सामने आने के बाद सीवीसी ने 2008 में की गई उनकी शिकायत को संज्ञान लेते हुए महाराष्ट्र सरकार को इस बारे में रिपोर्ट देने को कहा है। रिलायंस इंडस्ट्रीज की ओर से पठान के उस दावे को सिरे से खारिज किया गया है। जिसमें उन्होंने अंबानी का ‘शाही महल’ वक्फ बोर्ड की जमीन पर बने होने का दावा किया है। रिलायंस ने कहा है कि इस जमीन को खरीदते वक्त उसे मालिक को ठिक मुआवजा दिया गया है। और एंटिलिया का निर्माण महाराष्ट्र राज्य वक्त बोर्ड की जमीन पर नहीं हुआ है।


आलीशान 27 मंजिला एंटिलिया दक्षिण मुंबई के पॉश कुलाबा इलाके के अल्टामॉन्ट रोड पर स्थित है। बिजनेस टायकून मुकेश अंबानी के इस ‘शाही महल’ की ऊंचाई करीब 550 फीट है। इसके सबसे ऊपरी मंजिल पर तीन हैलीपैड हैं। इसकी पहली छह मंजिलों में सिर्फ पार्किग की सुविधा है। जिसमें करीब 168 कारें पार्क की जा सकती हैं। इस गगनचुंबी बिल्डिंग में स्वीमिंग पूल, हेल्थ क्लब, सैलून, 50 सीटों वाला एक मिनि थिएटर और 9 लिफ्ट हैं।


उल्लेखनीय है कि इससे पहले एंटिलिया के खिलाफ बेस्ट समिति के सदस्य सुहास सामंत ने आवाज उठाई थी। उन्होंने आरोप लगाया था कि मुकेश अंबानी ने इस गगनचुंबी इमारत के चारों ओर सुरक्षा के मद्देनजर 50 फुट ऊंची बाउंड्री वॉल बिना किसी अथॉरिटी की अनुमति के बनाया है।


3 comments:

  1. MUkesh bhaiya, Hindustan me bahut garibi hai, Agar aap kuch dan punya kar le to log humesa apko yaad rakhenge. 70 lakh ek mahine ka bijlibill, ye to mere goan ki rangat badal dega !

    ReplyDelete
  2. आप उनको ब्लामे नहीं कर सकतीं..ये उनका जायज पैसा है जो वो उपयोग कर रहे हैं...
    दूसरों पर ऊँगली उठाने से पहले हमें खुद को देखना चाहिए...
    हम से कितने लोग सही तौर से इन्काम टैक्स भुगतान करते हैं...सब कोई न कोई जुगाड़ लगाकर बच जाते हैं...
    कितने लोग हर सामान खरीदने का बाद पक्की रसीद लेते हैं ...
    आपको क्या लगता है इन लोगों के पास इतना पैसा कहाँ से आता है?????
    वही ब्लैक मनी है जो हम उन्हें देते हैं.... बिना रसीद के सामान खरीदकर...
    उन्हें सेल्स टैक्स नहीं चुकाना पड़ता...
    बुरा जो देखन मैं चला, बुरा न मिलया कोय
    जो मन खोजा आपना तो मुझसे बुरा न कोय....

    ReplyDelete
  3. aapki post side se kat ja रही है इसपर ध्यान दें....

    ReplyDelete

आपका बहुत - बहुत शुक्रिया जो आप यहाँ आए और अपनी राय दी,हम आपसे आशा करते है की आप आगे भी अपनी राय से हमे अवगत कराते रहेंगे!!
--- संजय सेन सागर

लो क सं घ र्ष !: राजीव यादव की सरकारी हत्या का प्रयास

आजादी के बाद से आज तक के इतिहास में पहली बार भोपाल कारागार से आठ कथित सिमी कार्यकर्ता कैदियों को निकाल कर दस किलोमीटर दूर ईटी  गांव में...