Saturday, August 21, 2010

एक आवश्‍यक सुचना संस्‍कृतप्रशिक्षणकक्ष्‍या के प्रशिक्षार्थियों के लिये ।



आप सभी प्रशिक्षु मित्रों को सूचित कर देना चाहता हूँ कि संस्‍कृतप्रशिक्षणकक्ष्‍या का दसवाँ संस्‍करण

संस्‍कृतप्रशिक्षणकक्ष्‍या - दशमो अभ्‍यास: । प्रस्‍तुत कर दिया गया है ।

 इस पाठ्यक्रम में सप्‍तमी विभक्ति का पाठन किया गया जो कि विभक्ति की दृष्टि से अंतिम विभक्ति होती है अत: संस्‍कृतप्रशिक्षणकक्ष्‍या का पहला सत्र समाप्‍त हो चुका है ।
इस सत्र में हमने संस्‍कृत भाषा का एक विहंगम पठन और अभ्‍यास किया ।
पाठ्यक्रम की सरलता को बनाये रखने के लिये अबतक इसमें हमने कोई भी विभिन्‍न्‍ता नहीं रखी थी ।
किन्‍तु अब हम प्रारम्भिक ज्ञान प्राप्‍त कर चुके हैं, अत: अब हम थोडा सा पाठ्यक्रम का स्‍तर और बढाएंगे ।
इसमें आपको सभी लिंगों, सभी वचनों, तथा सभी कारक व विभक्तियों का सम्‍यक पाठन कराया जाएगा ।

ये हमारा दूसरा सत्र होगा और इसका नाम संस्‍कृतलेखनप्रशिक्षण कक्ष्‍या होगी ।
ये अबतक की कक्ष्‍या से विशिष्‍ट पाठ्यक्रम वाला होगा ।
इसमें प्राय: हम अपने लेखन का विकास और शुद्धि करेंगे ।
अगर इस पाठ्यक्रम को ध्‍यान से पढा गया तो हमारी लेखन सम्‍बन्‍धी बहुत सी समस्‍याएँ निराकरित हो जाएँगी ।

इस पाठ्यक्रम के सम्‍यक रूप से समाप्‍त हो जाने पर व्‍याकरण कक्ष्‍या प्रारम्‍भ होगी ।
अत: आप लोगों से विनम्र निवेदन है कि संस्‍कृत भाषा में पूर्णता प्राप्‍त करने हेतु कृपया सभी पाठ्यक्रमों को पूरे मनोयोग से पढें और निरन्‍तर अभ्‍यास करें ।

इस लेख को अपने दोस्‍तों के पास भी ईमेल से प्रेर्षित करें जिससे इस कक्ष्‍या का ज्‍यादा से ज्‍यादा लोग लाभ ले सकें ।।

धन्‍यवाद
भवदीय:- आनन्‍द:

No comments:

Post a Comment

आपका बहुत - बहुत शुक्रिया जो आप यहाँ आए और अपनी राय दी,हम आपसे आशा करते है की आप आगे भी अपनी राय से हमे अवगत कराते रहेंगे!!
--- संजय सेन सागर

लो क सं घ र्ष !: राजीव यादव की सरकारी हत्या का प्रयास

आजादी के बाद से आज तक के इतिहास में पहली बार भोपाल कारागार से आठ कथित सिमी कार्यकर्ता कैदियों को निकाल कर दस किलोमीटर दूर ईटी  गांव में...