Saturday, July 10, 2010

हम पहले के टॉपर है.. फिर से बाज़ी मारेगे..


हम जान लगा देगे॥

पर हिम्मत नाही हारे गे॥

हम पहले के टॉपर है॥

फिर से बाज़ी मारेगे॥


समय समय पर करू पढाई॥

समय का रखता ध्यान॥

यही समय है कुछ बनाने॥

साहब नेता नबाब॥

चढ़ जायेगे शिखा के ऊपर॥

नयी नयी बात निकाले गे॥

हम पहले के टॉपर है॥
फिर से बाज़ी मारेगे॥


अपने माँ के अरमानो का॥

हमें बहुत है ख्याल॥

अगर पैर पीछे हटाता है॥

होगा उन्हें मलाल॥

भारत माँ की धरती पर॥

नयी उपज उपारेगे॥

हम पहले के टॉपर है॥
फिर से बाज़ी मारेगे॥


तब सफलता कदम चूमेगी॥

खुशिया का मौसम आयेगा॥

बन जायेगे महा पुरुष हम॥

कभी समय बतलायेगा॥

अपनी विद्दया के झंडे को॥

एक दिन हम भी गाड़ेगे॥

हम पहले के टॉपर है॥
फिर से बाज़ी मारेगे॥

No comments:

Post a Comment

आपका बहुत - बहुत शुक्रिया जो आप यहाँ आए और अपनी राय दी,हम आपसे आशा करते है की आप आगे भी अपनी राय से हमे अवगत कराते रहेंगे!!
--- संजय सेन सागर

लो क सं घ र्ष !: राजीव यादव की सरकारी हत्या का प्रयास

आजादी के बाद से आज तक के इतिहास में पहली बार भोपाल कारागार से आठ कथित सिमी कार्यकर्ता कैदियों को निकाल कर दस किलोमीटर दूर ईटी  गांव में...