Saturday, July 3, 2010

नयी नवेली..

मै मतवाला तू मतवाली॥
आज तो बादल बरसेगा॥
हस के गले तुम मिलो सनम॥
मेरा दिल भी हर्षेगा॥
चले वयारिया दूर डगरिया॥
साड़ी खुसिया पर्सेगा॥
मै मतवाला तू मतवाली॥
आज तो बादल बरसेगा॥
उड़े चुनरिया दिन दुपहरिया॥
गगन से मेघा गरजेगा॥
मै मतवाला तू मतवाली॥
आज तो बादल बरसेगा॥
तू नयी नवेली न सखी सहेली॥
मेरा दिल भी तडपेगा॥
मै मतवाला तू मतवाली॥
आज तो बादल बरसेगा॥

2 comments:

  1. बादल तो बरस के ही रहेगा ।

    ReplyDelete
  2. jarur baadal barsegaa sir ji,,

    ReplyDelete

आपका बहुत - बहुत शुक्रिया जो आप यहाँ आए और अपनी राय दी,हम आपसे आशा करते है की आप आगे भी अपनी राय से हमे अवगत कराते रहेंगे!!
--- संजय सेन सागर

लो क सं घ र्ष !: राजीव यादव की सरकारी हत्या का प्रयास

आजादी के बाद से आज तक के इतिहास में पहली बार भोपाल कारागार से आठ कथित सिमी कार्यकर्ता कैदियों को निकाल कर दस किलोमीटर दूर ईटी  गांव में...