Wednesday, July 28, 2010

कौन सा खेल खेलने के लिए बांट रहे हो कंडोम?

नई दिल्ली. यूपीए सरकार में पूर्व मंत्री रहे मणिशंकर अय्यर दिल्ली में आयोजित होने वाले कॉमनवेल्थ खेलों से खासे नाराज दिख रहे हैं। अय्यर ने सवाल किया है कि कॉमनवेल्थ खेलों में ऐसा कौन सा खेल खेला जाएगा जो खेल पंडालों में 150 कंडोम वेंडिंग मशीने लगाई गई हैं।




अय्यर ने सवाल किया कि हमारी सरकार की प्राथमिकता क्या है उच्च स्तर के खेल कराना या अंतर्राष्ट्रीय स्तर की सुविधाएं मुहैया कराना। गौरतलब है कि कॉमनवेल्थ गेम्स के मद्देनजर खेल पंडालों में बड़ी संख्या में कंडोम बांटने वाली मशीने लगाई जा रही हैं।



अय्यर ने सवाल किया की खेलों को इस तरह बढ़ा चढ़ा कर पेश करना गलत है। देश की जनसंख्या में युवाओं का एक बड़ा हिस्सा होने के बाद भी हम एक खेल राष्ट्र नहीं बन सके हैं। आज हम कॉमनवेल्थ खेलों के नाम पर 35 हजार करोड़ रुपए खर्च कर रहे हैं लेकिन यदि यह रकम युवाओं को प्रशिक्षण देने पर खर्च की जाती तो हम बेहतर प्रदर्शन कर सकते थे।



अय्यर ने यह तक कहा कि वो देश में हो रही अच्छी बारिश से बहुत खुश हैं। एक तो इससे खेतों में अच्छी फसल पैदा होगी दूसरे ये कॉमनवेल्थ खेलों का बेड़ा गर्क कर देगी। यदि कॉमनवेल्थ खेल कामयाब हुए तो सरकार देश में अन्य खेल स्पर्धाएं आयोजित कराएगी और देश का पैसा इनमें खर्च होगा
 
http://www.bhaskar.com/

1 comment:

  1. पूरी तरह सहमत हूँ मणिशंकर जी से.. यही टिप्पणी एक जगह की थी अभी शाम को ही मैंने भी भाई.. :)

    ReplyDelete

आपका बहुत - बहुत शुक्रिया जो आप यहाँ आए और अपनी राय दी,हम आपसे आशा करते है की आप आगे भी अपनी राय से हमे अवगत कराते रहेंगे!!
--- संजय सेन सागर

लो क सं घ र्ष !: राजीव यादव की सरकारी हत्या का प्रयास

आजादी के बाद से आज तक के इतिहास में पहली बार भोपाल कारागार से आठ कथित सिमी कार्यकर्ता कैदियों को निकाल कर दस किलोमीटर दूर ईटी  गांव में...