Friday, June 4, 2010

राजनीति

भास्कर.कॉम


Rajneetiडायरेक्टर:प्रकाश झा

बैनर:प्रकाश झा प्रोडक्शन,वॉक वाटर मीडिया,यूटीवी मोशन पिक्चर्स,

संगीतकार:प्रीतम चक्रबर्ती,आदेश श्रीवास्तव,शांतनु मोइत्रा

गीतकार:गुलज़ार,समीर,स्वानंद किरकिरे

कलाकार: अजय देवगन,रणबीर कपूर,कैटरीना कैफ, मनोज वाजपेयी, अर्जुन रामपाल, नसीरुद्दीन शाह,सारह थॉमसन केन

 स्टार: ***

शुक्रवार को रिलीज़ हुई फिल्म राजनीति को मॉडर्न महाभारत कहा जा सकता है| इस फिल्म में अजय देवगन का किरदार कर्ण,रणबीर कपूर का अर्जुन और नाना पाटेकर का किरदार शकुनी मामा के पत्रों से मेल खता है| महाभारत की तरह ही फिल्म की कहानी में भी यह तीनों किरदार बेहद अहम हैं|फिल्म की कहानी है एक राजनीतिक परिवार की|

भास्कर सान्याल(नसीरुद्दीन शाह)एक वामपंथी नेता के किरदार में हैं जो राजनीति में मूल्यों पर बहुत विश्वास करता है और उसकी इसी बात से प्रभावित होकर विपक्ष पार्टी के नेता की बेटी भारती(निखिला त्रिखा)अपने पिता के विरुद्ध जाकर भास्कर की पार्टी में शामिल हो जाती है| मगर एक भूल से भास्कर के किए-कराए पर पानी फिर जाता है और वह सब कुछ छोड़कर स्व-घोषित वनवास को चला जाता है|वह भारती से प्यार भी करता है मगर उसे छोड़ने को मजबूर भी हो जाता है|

भास्कर के जाने के बाद भारती एक बेटे को जन्म देती है जिसे भारती का भाई बृज गोपाल (नाना पाटेकर)एक मंदिर में छोड़ आता है| इसके बाद भारती की शादी जबरदस्ती एक राजनीतिक परिवार में कर दी जाती है| यह शादी भी राजनीतिक लाभ उठाने के लिए की जाती है|

इसके बाद सत्ता पर काबिज़ होने के लिए इस परिवार में जोड़-तोड़ शुरू हो जाते हैं|इस बीच भारती के पति की पिता को पेरालिसिस का अटैक आ जाता है और वह सत्ता संभालने की सारी जिम्मेदारी भारती के देवर मनोज बाजपेयी को सौंप देते हैं मगर भारती के ससुर इस मनोज को सत्ता का कार्यभार सौंपने पर आपत्ति जताते हैं और वह भारती के बड़े बेटे अर्जुन रामपाल को कुर्सी सौंप देते हैं|

यही बात वीरेंद्र प्रताप (मनोज बाजपेयी)को नागवार गुजरती है और वह इस परिवार में फूट डालकर सत्ता हथियाने की राजनीति करना शुरू कर देता है|इस षड़यंत्र में वह हथियार बनता है भारती के बेटे (सूरज प्रताप)यानी अजय देवगन को, जिसे ब्रिज (नाना) बचपन में मंदिर में छोड़ देता है|

दोनों का मकसद इस परिवार की बर्बादी होता है| अर्जुन रामपाल की शादी कैटरीना कैफ से की जाती है क्योंकि उनके पिता बहुत ही बड़े उद्योगपति होते है और वह उसी का सहयोग देंगे जो उन्हें मुख्य मंत्री की गद्दी पर बिठाएगा|

फिल्म में अर्जुन रामपाल के छोटे भाई समर प्रताप(रणबीर कपूर)की एंट्री होती है जो कि बहुत ही सीधा-साधा पढ़ा लिखा युवक है और परिवार के राजनीतिक माहौल से कोसों दूर रहना पसंद करता है| लेकिन धीरे धीरे वह भी राजनीतिक माहौल में ढलने लगता है|

फिल्म में अगर परफॉरमेंस की बात की जाए तो सभी कलाकारों का काम जबरदस्त है| खासकर मनोज बाजपेयी ने अपने किरदार में जान डाल दी है| अर्जुन रामपाल ने भी फिल्म में काफी अच्छा अभिनय किया है|

रणबीर इस फिल्म में अपनी परफॉरमेंस से दर्शकों को जरुर चौंका देंगे| कैटरीना ने भी अपने किरदार के साथ न्याय किया है| अपने पति की मृत्यु के बाद कैटरीना बबली इमेज से बाहर निकलकर एक गंभीर रोल में आसानी से ढलती नज़र आती हैं|

फिल्म के डायलॉग भी काफी अच्छे लिखे गए हैं| नाना पाटेकर ने जोड़-तोड़ और साजिश रचने वाले शकुनी मामा के किरदार को बखूबी निभाया है|यह राजनीतिक ड्रामा दर्शकों पर अपनी छाप छोड़ने में कामयाब होती नज़र आती है|

प्रकाश झा का निर्देशन उम्दा है और फिल्म का गाना 'मोरा पिया' दर्शकों पर अपना जादू बिखेरता नज़र आता है|

No comments:

Post a Comment

आपका बहुत - बहुत शुक्रिया जो आप यहाँ आए और अपनी राय दी,हम आपसे आशा करते है की आप आगे भी अपनी राय से हमे अवगत कराते रहेंगे!!
--- संजय सेन सागर

लो क सं घ र्ष !: राजीव यादव की सरकारी हत्या का प्रयास

आजादी के बाद से आज तक के इतिहास में पहली बार भोपाल कारागार से आठ कथित सिमी कार्यकर्ता कैदियों को निकाल कर दस किलोमीटर दूर ईटी  गांव में...