Thursday, May 6, 2010

हिन्दुस्तान मेरा हे क्या आप भी इसके लियें दर्द रखते हें

जी हाँ यह हिन्दुस्तान किसी के बाप का नहीं मेरा हे इसमें अब किसी ने साम्प्रदायिकता,आतंकवाद,ग़द्दारी,मिलावट,जमाखोरी,भ्रष्टाचार फेलाने का काम किया तो उसकी खेर नहीं में अब इसी मिशन पर हूँ के ग़द्दार देश के दुश्मनों को सबक सिखा दें लेकिन कानून और संविधान के दायरे में रह कर क्या इसमें आप मेरी मदद करेंगे अगर हाँ तो आजायिये मुझे अकेला मत रहने दीजिये मेरा इस एश को घ्द्दारों से बचान में मदद कीजिये। अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

No comments:

Post a Comment

आपका बहुत - बहुत शुक्रिया जो आप यहाँ आए और अपनी राय दी,हम आपसे आशा करते है की आप आगे भी अपनी राय से हमे अवगत कराते रहेंगे!!
--- संजय सेन सागर

लो क सं घ र्ष !: राजीव यादव की सरकारी हत्या का प्रयास

आजादी के बाद से आज तक के इतिहास में पहली बार भोपाल कारागार से आठ कथित सिमी कार्यकर्ता कैदियों को निकाल कर दस किलोमीटर दूर ईटी  गांव में...