Monday, October 26, 2009

क्यूं हर बार रैंप पर ही कपड़े नहीं देते साथ










दुनिया में कहीं भी फैशन शो हो और उसमें कोई विवाद न उठे ऐसा कैसे हो सकता है। नई दिल्ली इन दिनों चल रहे विल्स लाइफस्टाइल इंडिया फैशन शो भी इससे अछूता न रहा। मशहूर डिजाइनर रितु कुमार के शो के दौरान खूबसूरत मॉडल जब रैंप पर उतरीं तो सभी की निगाह उनके पैंट पर जा कर टिक गई। नजर टिकने की भी पुख्ता वजह थी। दरअसल मॉडल ने जो पैंट पहन रखा था, उसकी चैन बंद करना शायद वो भूल गई थी। ऐसा नहीं है कि यह देश में कोई पहला मामला है। पहले भी कई फैशन शो इन्हीं तरह की लापरवाहियों के चलते सुर्खियां बटोर चुके हैं। हालांकि इस बात पर बहस आज भी जारी है कि ऐसा अनजाने में हो जाता है या फिर जानबूझकर किया जाता है।वर्ष 2008 में विल्स फैशन शो के दौरान एक मॉडल की ड्रेस जब कंधे से खिसक गई तो उसने उस पर बिलकुल भी ध्यान नहीं दिया और पूरे आत्मविश्वास के साथ रैंप पर चलती रहीं। इससे पहले वर्ष 2006 में तो हद हो गई थी। देश की मशहूर मॉडल केरोल ग्रेसिया जब रैंप पर उतरीं तो कैमरे का फ्लैश लगातार उन्हीं की ओर चमक रहे थे। चमकते भी क्यों नहीं। केरोल ने जो ड्रेस पहनी हुई तो वह अचानक खुल गई। लेकिन दाद देनी होगी कैरोल की। उन्होंने पूरे आत्मविश्वास के साथ अपनी ड्रेस को ठीक किया और अपनी कैटवॉक पूरी की। हालांकि मुंबई पुलिस ने इस वजह से उनके खिलाफ मामला दर्ज कर लिया था।निगार खान भी ऐसे अनुभव से गुजर चुकी हैं। नार्वे में एक फैशन शो के दौरान निगार की ब्रा छाती से खिसक गई थी। नतीजतन सारे कैमरों ने उनके खुले हुए ब्रेस्ट को कैमरे में कैद कर लिया। कई चैनलों ने इस पूरे सीन को ब्लर करके टीवी पर भी दिखाया। यह बात है वर्ष 2005 की। सैकड़ों की तादाद में लोगों ने निगार को बिना कपड़ों के देखा। गौहर खान के साथ भी ऐसा कुछ हुआ था। उन्होंने जो ड्रेस पहनी थीं, उसके पीछे की चेन खुली थी। गौहर खान को इस वजह से काफी शर्मिदगी उठानी पड़ी थी। इसी तरह वर्ष 2004 में सिडनी में एक फैशन शो के दौरान
उस वक्त की मिस यूनिवर्स जेनिफर हॉकिंस की लंबी-चौड़ी ड्रेस खिसक गई और वहां मौजूद लोगों के साथ ही पूरी मीडिया ने भी उन्हें खुले बदन देखा।




आगे पढ़ें के आगे यहाँ

2 comments:

  1. madam yeh to aapko pata hi yeh fashion world hai yeha aisi choti choti batein to hoti rehti hai ....kyuki hum aur app western culture ko apnate ja rahe hai to yeh aam baat hogi hi madam....

    ReplyDelete
  2. This is also a fact on clothes on ramp,I think its better solution is to be prepare for it

    ReplyDelete

आपका बहुत - बहुत शुक्रिया जो आप यहाँ आए और अपनी राय दी,हम आपसे आशा करते है की आप आगे भी अपनी राय से हमे अवगत कराते रहेंगे!!
--- संजय सेन सागर

लो क सं घ र्ष !: राजीव यादव की सरकारी हत्या का प्रयास

आजादी के बाद से आज तक के इतिहास में पहली बार भोपाल कारागार से आठ कथित सिमी कार्यकर्ता कैदियों को निकाल कर दस किलोमीटर दूर ईटी  गांव में...