Sunday, August 9, 2009

स्वाइन फ्लू के कहर से बेखबर छत्तीसगढ सरकार



सतर्कता के दावे के बावजूद स्वाइन फ्लू ने देश को झकझोर कर रख दिया और देश भर में स्वाइन फ्लू संक्रमण के मामलो और उससे होने वाली मृत्यु में इजाफा जारी है .जिसके चलते देश में स्वाइन फ्लू की चपेट में आए लोगों की तादाद 711 तक पहुंच गई है.

आसानी से पकड में नहीं आने वाली की स्वाइन फ्लू की जांच और दवाई दोनों ही काफी महगी है अगर हम इसे अपने प्रदेश छत्तीसगढ के सन्दर्भ में देखे तो आर्थिक रूप से पिछडे हमारे प्रदेश में ग्रामीण अंचलो में सामान्य बीमारी से निपटने लिए नियमित डाँ नहीं , ऐसे में स्वाइन फ्लू जैसी जानलेवा बीमारी से निपटाना तो दूर की बात है संक्रमण से फैलाने वाले स्वाइन फ्लू के लिए बिग बी अमिताभ बच्चन जैसे महानायक ने चिंता जाहिर करते हुए मीडिया से अपील की है कि वह देशवासियों को इसके खतरे से बचाने का अभियान चलाएं जिसमें वह स्वयंसेवक की भूमिका निभाने के लिए तैयार हैं। पर इन सब से बेखबर छत्तीसगढ सरकार को शायद इस बात का इंतजार है यहाँ पहले स्वाइन फ्लू संक्रमण का मामला तो सामने आये . जिसके चलते लाखो रु विज्ञापन पर खर्च कर जनता को अपने बखान गिनाते नहीं थकने वाली छत्तीसगढ सरकार स्वाइन फ्लू जैसे संक्रमित बीमारी से बचाव के या जन जाग्रति से कोसो दूर है वैसे अच्छी खबर यह है की अभी तक छत्तीसगढ में स्वाइन फ्लू ने दस्तक नहीं दी है और संक्रमण का कोई मामला सामने नहीं आया है पर यह सरकारी उदासीनता और जागरूकता के आभाव के चलते भी संभव है
बहरहाल साक्षरता में पिछडे इस प्रदेश में समय रहते स्वाइन फ्लू जैसी जानलेवा घातक बीमारी से बचाव , जागरूकता की पहल नहीं की गई तो हो सकता है की इसके परिणाम धातक हो और बहुतो को स्वाइन फ्लू का कहर लील जाये जिसकी भरपाई फिर ना की जा सके
http://bhadas4cg.com/index.php?option=com_content&view=article&id=148:2009-08-09-09-37-10&catid=41:2009-03-24-16-08-12&Itemid=62

1 comment:

  1. यह बीमारी भारत के लिए भी एक समस्या बनती जा रही है. अब तक चार मौतों की खबर आ चुकी है.सरकार, जनता, स्वास्थ्य संस्थाओं आदि को जागरूक रहना चाहिए.लेकिन अमिताभ बच्चन द्वारा चिंता जाहिर करने से ही समस्या की गंभीरता रेखांकित नहीं होती.

    ReplyDelete

आपका बहुत - बहुत शुक्रिया जो आप यहाँ आए और अपनी राय दी,हम आपसे आशा करते है की आप आगे भी अपनी राय से हमे अवगत कराते रहेंगे!!
--- संजय सेन सागर

लो क सं घ र्ष !: राजीव यादव की सरकारी हत्या का प्रयास

आजादी के बाद से आज तक के इतिहास में पहली बार भोपाल कारागार से आठ कथित सिमी कार्यकर्ता कैदियों को निकाल कर दस किलोमीटर दूर ईटी  गांव में...