Saturday, August 8, 2009

नही परेशानी होगी..

ladki:- प्रेम की संकर गलियनम ॥
प्रेम राज़ क्यो आए हो॥
आते आते घर वालो से॥
क्यो मेरा पता बताये हो॥
बड़ी बदनामी होगी॥
तुम्हे परेशानी होगी॥
लड़का:- छुपा के रखना दिल में अपने॥
मत बतलाना भेद॥
हंस हंस करके बातें करना॥
मत करना बिच्क्षेद॥
जल्द बहेगी प्रेम की गंगा॥
ऐसी प्रेम निशानी होगी॥
नही परेशानी होगी...
लड़की:- प्रेम डगर पर चलते चलते ॥
खुल जाती है पोल॥
शर्म से आँखे झुक जाती है॥
करते लोग है क्रोध॥
इश्क छुपाये छुप नही सकता॥
बड़ी हैरानी होगी..तुम्हे परेशानी होगी॥
लड़का:- प्रेम नदी में सभी नहाते ॥
कौन बना ब्रम्हचारी॥
चढत जवानी आँखे लड़ती॥
इसमे क्या दुराचारी॥
संग चलेगे सात जनम तक॥
यही मेरी प्रेम कहानी होगी॥
नही परेशानी होगी॥

No comments:

Post a Comment

आपका बहुत - बहुत शुक्रिया जो आप यहाँ आए और अपनी राय दी,हम आपसे आशा करते है की आप आगे भी अपनी राय से हमे अवगत कराते रहेंगे!!
--- संजय सेन सागर

लो क सं घ र्ष !: राजीव यादव की सरकारी हत्या का प्रयास

आजादी के बाद से आज तक के इतिहास में पहली बार भोपाल कारागार से आठ कथित सिमी कार्यकर्ता कैदियों को निकाल कर दस किलोमीटर दूर ईटी  गांव में...