Sunday, June 28, 2009

हमारा समाज़ व स्त्री


आखिर क्योंसमाज़ स्त्री को हमेशा पिछले पायदान पर ही चाहता है??युक्ति-युक्ति पूर्ण आलेख पडिये ,देवेन्द्र साहू का--ओर सोचिये समाझिये----

2 comments:

  1. naari teri yehi kahani
    hamesha kari mard ne apni manmani

    ReplyDelete
  2. कुछ तुम करो , कुछ हम करें जानी।
    कब तक रहेगी आखिर ये मनमानी।
    यदि खप्पर-त्रिशूल ले बने रणचन्डी,
    क्या न होगी पुरुष व दुनिया को हैरानी।

    ReplyDelete

आपका बहुत - बहुत शुक्रिया जो आप यहाँ आए और अपनी राय दी,हम आपसे आशा करते है की आप आगे भी अपनी राय से हमे अवगत कराते रहेंगे!!
--- संजय सेन सागर

लो क सं घ र्ष !: राजीव यादव की सरकारी हत्या का प्रयास

आजादी के बाद से आज तक के इतिहास में पहली बार भोपाल कारागार से आठ कथित सिमी कार्यकर्ता कैदियों को निकाल कर दस किलोमीटर दूर ईटी  गांव में...