Wednesday, June 10, 2009

चोर-चोर मौसेरे भाई।

अमेरिका-तालिबान
आमने-सामने,
पाकिस्तान चला,
दोनों को थामने,
पाक की,
घरेलू स्थिति,
चरमराई,
गृह-युद्ध की स्थिति आई,
फ़िर भी
कश्मीर से सेना नहीं हटाई,
उपयुक्त अवसर जान,
जरदारी जी दिखाते,
अपनी चतुराई,
अमेरिका हैरान,
ओबामा परेशान,
अंतर्राष्ट्रीय राजनीति गरमाई,
तुमको बुझानी है,
तुम्ही ने आग लगाई,
भारत करे बचाव बस,
किसी पर कैसे?
करे विश्वास?
चोर-चोर मौसेरे भाई।

No comments:

Post a Comment

आपका बहुत - बहुत शुक्रिया जो आप यहाँ आए और अपनी राय दी,हम आपसे आशा करते है की आप आगे भी अपनी राय से हमे अवगत कराते रहेंगे!!
--- संजय सेन सागर

लो क सं घ र्ष !: राजीव यादव की सरकारी हत्या का प्रयास

आजादी के बाद से आज तक के इतिहास में पहली बार भोपाल कारागार से आठ कथित सिमी कार्यकर्ता कैदियों को निकाल कर दस किलोमीटर दूर ईटी  गांव में...