Wednesday, June 10, 2009

चार साल की उम्र में मासिक धर्म !


राजकोट. महज साढ़े चार साल की उम्र में यहां एक मासूम बालिका को प्रकृति की अनूठी मार झेलनी पड़ रही है। इस नादान उम्र में शारीरिक विकास के बाद अब उसे मासिक धर्म की पीड़ा से भी गुजरना पड़ रहा है। बच्ची में आए इस असामयिक सयानेपन से उसके माता-पिता काफी चिंतित हैं। दुर्लभतम मामला: स्त्री रोग विशेषज्ञ डा. यशुबहन शाह और डा. सोनल शाह इसे दुर्लभतम मामला बताते हुए कहती हैं कि ‘प्रिकोश्ॉस प्यूबर्टी’ नामक यह बीमारी बच्चों में समय पूर्व सयानापन ले आती है। अमूमन लड़कियों में यह बीमारी आठ-नौ वर्ष तक की उम्र में देखी जाती रही है। लेकिन, साढ़े चार साल की उम्र ऐसा होना वाकई चिंताजनक है। उन्होंने पीड़ित बालिका की जांच एंडोक्राइनोलॉजिस्ट, पीडियट्रीशियन और गायनेकोलॉजिस्ट से कराने की जरूरत बताई है।


आगे पढ़ें के आगे यहाँ

3 comments:

  1. बहुत दुखद घटना है

    ReplyDelete
  2. Bahut jyada buri baat h.
    Bhart sarkar & rajya sarkar ko & chiktsa vibhag ko visesh abhiyan se sahayata kar ke iska ilaj kraye.

    ReplyDelete

आपका बहुत - बहुत शुक्रिया जो आप यहाँ आए और अपनी राय दी,हम आपसे आशा करते है की आप आगे भी अपनी राय से हमे अवगत कराते रहेंगे!!
--- संजय सेन सागर

लो क सं घ र्ष !: राजीव यादव की सरकारी हत्या का प्रयास

आजादी के बाद से आज तक के इतिहास में पहली बार भोपाल कारागार से आठ कथित सिमी कार्यकर्ता कैदियों को निकाल कर दस किलोमीटर दूर ईटी  गांव में...