Saturday, May 23, 2009

लिखने के साथ साथ पढ़ें भी.....

आज बहुत दिनों बाद हिंदुस्तान का दर्द पर आया हूँ..!बहुत खुशी होती .इसकी विकास यात्रा देख कर...!बहुत ही अच्छे लोग जुड़ रहें है इससे..!संजय जी जितनी रूचि ले कर इसे सहेज रहे है वह बहुत बड़ी बात है...!लेकिन एक बात जो मुझे खल रही है वो ये की ..लिखने की बजाय लोग पढने में कम रूचि ले रहे है...!इसका अंदाजा पोस्ट के नीचे टिप्पणिया देख कर हो जाता है..!मेरा आप सब लोगों से विनम्र निवेदन है की कृपया कुछ समय पोस्ट को पढने में तथा ने में भी लगायें ताकि नए लोगों को प्रोत्साहन मिल सके...तभी हमारा ब्लॉग नित नई ..मंजिले......छुएगा....!

No comments:

Post a Comment

आपका बहुत - बहुत शुक्रिया जो आप यहाँ आए और अपनी राय दी,हम आपसे आशा करते है की आप आगे भी अपनी राय से हमे अवगत कराते रहेंगे!!
--- संजय सेन सागर

लो क सं घ र्ष !: राजीव यादव की सरकारी हत्या का प्रयास

आजादी के बाद से आज तक के इतिहास में पहली बार भोपाल कारागार से आठ कथित सिमी कार्यकर्ता कैदियों को निकाल कर दस किलोमीटर दूर ईटी  गांव में...