Thursday, May 21, 2009

प्यार की तोड़नी जंजीर बहुत मुश्किल है...


हर ख्वाब की ताबीर बहुत मुश्किल है
तामीर - -गजल मीर बहुत मुश्किल है
रूखे- रौशन की वो रौनक बस सल्ले अला -
काम आए कोई तदवीर बहुत मुश्किल है
ख़त जलाकर मेरी यादों को मिटाने वाले -
बने दिल में भी तस्वीर बहुत मुश्किल है
हम खयालो में हो मुमकिन ही नही-
प्यार की तोड़नी जंजीर बहुत मुश्किल है
मैं मुसब्बिर हूँ तेरी शक्ल बना लेता हूँ-
गर्मी- - साँस की तासीर बहुत मुश्किल है
मैं बहुत बार तेरे दर पे पहुँचता लेकिन -
बिन बुलाये मिले तौकीर बहुत मुश्किल है

डॉक्टर यशवीर सिंह चंदेल '' राही ''

No comments:

Post a Comment

आपका बहुत - बहुत शुक्रिया जो आप यहाँ आए और अपनी राय दी,हम आपसे आशा करते है की आप आगे भी अपनी राय से हमे अवगत कराते रहेंगे!!
--- संजय सेन सागर

लो क सं घ र्ष !: राजीव यादव की सरकारी हत्या का प्रयास

आजादी के बाद से आज तक के इतिहास में पहली बार भोपाल कारागार से आठ कथित सिमी कार्यकर्ता कैदियों को निकाल कर दस किलोमीटर दूर ईटी  गांव में...