Saturday, April 25, 2009

Loksangharsha: घटाओं को आक्रोश है...


कुन्तलों पर घटाओं को आक्रोश है।
चंद्रमा मुख से करता सा परिहास है।
कुम्भ शिखरों सदृश कटि लजाई हुई-
नूपुरों ने किया मन को मदहोश है॥

नैन देते है निमंत्रण पर रागिनी निर्दोष है।
मन का संयम टूटता है पर चांदनी निर्दोष है।
गहन तम के पार जन दृष्टि का ठहरा कठिन -
कालिमा मन की गले पर यामिनी निर्दोष है॥

है अभावो भरा इनका सारा जनम।
जोङते जोङते बिखरा सारा जनम ।
गाँव जिंदगी श्राप सी हो गई -
एक पल को हँसे रोये साए जनम॥

दीन की दीनता जब नमन छोड़ देगी ।
मनुज की मनुज़तर घरम छोड़ देगी।
नदी के किनारों संभल जावो वरना-
लहर बढ़ बनकर कसम तोड़ देगी॥

डॉक्टर यशवीर सिंह चंदेल 'राही'

4 comments:

  1. नमस्कार,
    इसे आप हमारी टिप्पणी समझें या फिर स्वार्थ। यह एक रचनात्मक ब्लाग शब्दकार के लिए किया जा रहा प्रचार है। इस बहाने आपकी लेखन क्षमता से भी परिचित हो सके। हम आपसे आशा करते हैं कि आप इस बात को अन्यथा नहीं लेंगे कि हमने आपकी पोस्ट पर किसी तरह की टिप्पणी नहीं की।
    आपसे अनुरोध है कि आप एक बार रचनात्मक ब्लाग शब्दकार को देखे। यदि आपको ऐसा लगे कि इस ब्लाग में अपनी रचनायें प्रकाशित कर सहयोग प्रदान करना चाहिए तो आप अवश्य ही रचनायें प्रेषित करें। आपके ऐसा करने से हमें असीम प्रसन्नता होगी तथा जो कदम अकेले उठाया है उसे आप सब लोगों का सहयोग मिलने से बल मिलेगा साथ ही हमें भी प्रोत्साहन प्राप्त होगा। रचनायें आप shabdkar@gmail.com पर भेजिएगा।
    सहयोग करने के लिए अग्रिम आभार।
    कुमारेन्द्र सिंह सेंगर
    शब्दकार
    रायटोक्रेट कुमारेन्द्र

    ReplyDelete
  2. काफी रचना काफी पसंद आई,लेकिन सेंगेर जी का अंदाज़ बुरा लगा जो अपने स्वार्थ के लिए दूसरों के ब्लॉग का उपयोग कर रहे है !
    यह नेतिक नहीं है

    ReplyDelete
  3. काफी रचना काफी पसंद आई,लेकिन सेंगेर जी का अंदाज़ बुरा लगा जो अपने स्वार्थ के लिए दूसरों के ब्लॉग का उपयोग कर रहे है !
    यह नेतिक नहीं है

    ReplyDelete
  4. बढ़िया लिखा है जारी रखे!

    ReplyDelete

आपका बहुत - बहुत शुक्रिया जो आप यहाँ आए और अपनी राय दी,हम आपसे आशा करते है की आप आगे भी अपनी राय से हमे अवगत कराते रहेंगे!!
--- संजय सेन सागर

लो क सं घ र्ष !: राजीव यादव की सरकारी हत्या का प्रयास

आजादी के बाद से आज तक के इतिहास में पहली बार भोपाल कारागार से आठ कथित सिमी कार्यकर्ता कैदियों को निकाल कर दस किलोमीटर दूर ईटी  गांव में...