Thursday, April 23, 2009

एक पिता जो पीता है बेटी का दूध


अभी तक जॉर्जिया ब्राउन अपने आठ माह के बेटे को ब्रेस्टफीडिंग करवाती थी, यहां तक तो सब ठीक था, लेकिन अब उसने अपनी पिता को भी ब्रेस्टफीड करवाना शुरू कर दिया है। जी हां, जॉर्जिया के पिता टिम भी अब बेटी का दूध पी रहे हैं।
यह बात सुनने में काफी अजीब लगती है, लेकिन एक सच्ची कहानी है। टिम ऐसा इसलिए कर रहा है क्योंकि उसे कैंसर है।
टिम की कैंसर से लड़ाई
दरअसल जॉर्जिया के 67 वर्षीय पिता टिम कैंसर से पीड़ित है। टिम की कैंसर की बीमारी का पता जॉर्जिया की शादी से ठीक एक हफ्ते पहले चला। जॉर्जिया के अनुसार शादी के कारण मैं अपने पिता के साथ नहीं रह सकती थी और उनकी देखभाल भी नहीं कर सकती थी, लेकिन मैंने उनका काफी इलाज करवाया।
कीमोथैरेपी से उन्हें काफी फायदा भी पहुंचा। मुझे समझ नहीं आ रहा था कि उन्हें कैंसर कैसे हो गया। वे काफी तंदरुस्त और ऊर्जावान व्यक्ति थे।
टीवी पर फिल्म देख आया आइडिया
करीब एक साल बाद जॉर्जिया मां बनने वाली थी और एक बार फिर उसके पिता की तबियत काफी खराब हो गई। पता चला कि टिम का कैंसर शरीर के काफी हिस्सों में फैल चुका है। जॉर्जिया काफी निराश हो चुकी थी, तभी एक दिन अपने बच्चे को दूध पिलाते वक्त उसने टीवी पर एक डॉक्यूमेंट्री फिल्म देखी।
वह फिल्म एक ऐसे व्यक्ति पर आधारित थी जिसे कैंसर था। फिल्म में बताया गया कि स्तन का दूध पीने से कैंसर की बीमारी से बचा जा सकता है। कैंसर से पीड़ित वह व्यक्ति रोज मिल्क बैंक से दूध लेकर पीता था।
बढ़ता है इम्यून सिस्टम
इसके बाद जॉर्जिया ने इंटरनेट पर इस तथ्य की खोज करना शुरू कर दी। कई दिनों तक सर्च करने के बाद जॉर्जिया को कई अमेरिकी शोध मिले जिसमें कहा गया कि ब्रेस्ट मिल्क पीने से कैंसर सेल्स नष्ट होते हैं। साथ ही इम्यून सिस्टम भी मजबूत बनता है जिससे कैंसर जैसी बीमारी से लड़ा जा सकता है।
घरवालों से ली सलाह
इस आइडिए को जॉर्जिया ने पिता टिम को बताया और उन्हें इसके लिए मना भी लिया। इसके बाद जॉर्जिया ने अपनी मां, पिता और भाई-बहनों से भी मशवराह लिया, तो सभी ने इस नेक काम के लिए हामी भर दी। पिछले छह माह से टिम जॉर्जिया का ही दूध पी रहे हैं।
हर दिन जॉर्जिया अपना दूध एक बाउल में निकालती है और उसके बाद उसे फ्रीज किया जाता है और फिर शेक बनाकर टिम को दिया जाता है। जॉर्जिया कहती हैं कि मैं बेहद खुश हूं कि मैं अपने पिता की मदद कर पा रही हूं। साथ ही घरवालों ने भी मेरा पूरा साथ दिया। उम्मीद है कि अब मेरे पिता कैंसर जैसी बीमारी से बेहतर तरीके से लड़ पाएंगे।
अपने पिता की जान बचाने के लिए इस बेटी के द्वारा उठाया यह कदम एक क्रांतिकारी कदम है। इस पर आप भी अपनी राय हमें भेज सकते हैं।
आगे पढ़ें के आगे यहाँ

5 comments:

  1. इस विषय पर आप सभी की राय चाहता हूँ
    आशा है राय देंगे

    ReplyDelete
  2. पिता के लिए बह यह सब कर रही है तब तो ठीक ही है

    ReplyDelete
  3. पिता के लिए बह यह सब कर रही है तब तो ठीक ही है

    ReplyDelete
  4. sach mein bahut hi krantikari kadam hai............har koi soch bhi nhi sakta.unke is jazbe ko salaam hai.ummeed karte hain unki mehnat rang layegi.

    ReplyDelete
  5. interstiing news this is

    woman milk is most power full accounting to other milk not cancer it can be you protect to all deceases this is in my opinion .

    but today more lady want to be zero figar that is dangerous for milking for baby .

    how to make a good health for India or worlds


    मेरी राय में विकसित barest विकसित बच्चे

    ReplyDelete

आपका बहुत - बहुत शुक्रिया जो आप यहाँ आए और अपनी राय दी,हम आपसे आशा करते है की आप आगे भी अपनी राय से हमे अवगत कराते रहेंगे!!
--- संजय सेन सागर

लो क सं घ र्ष !: राजीव यादव की सरकारी हत्या का प्रयास

आजादी के बाद से आज तक के इतिहास में पहली बार भोपाल कारागार से आठ कथित सिमी कार्यकर्ता कैदियों को निकाल कर दस किलोमीटर दूर ईटी  गांव में...