Wednesday, April 15, 2009

एक बार फिर से धर्म के नाम पे लोगो को काटने को तयारी

क बार फिर से धर्म के नाम पे लोगो को काटने कि तयारी कर रही है BJP. बकवास , राजनाथ सिंह बेवाकुफ्फ़ बनाना चाहते हैं ,वो सोच रहे हैं की लोग इस बकवास के पचडे में पड़ने के लिए वोट देंगे , ये B.J.P. की सबसे बड़ी गलती है . आब पब्लिक समझदार हो गई है और मुझे लगता है की BJP हमेसा k लिए गायब हो जायेगी . धर्म की राजनीति करके ये लोग na सिर्फ़ पार्टी बल्कि हमारे भारत देश का भी नाम ख़राब क़र रहे हैं ये लोग . मुझे लगता है ये लोग दिमागी तौर से बीमार हैं , इन्हे चेयर की नही मेंटल हॉस्पिटल की जरूरत है . धर्म के नाम पे कई सारे संघ बन गए हैं जिनमे 99% आतंकवादी वाले काम करते हैं , जैसे अभी मंगलोर में राम सेना ने जो किया वो बहूत ही सर्म्नक था . संघ का नाम राम सेना और भगवन राम के आदर्शो को ही भूल गए ? . और वो दूसरा वो ढोंगी बाबा मलेगओं ब्लास्ट वाला - आब उसे कौन समझाए की "साधू " का मतलब "अच्छा " होता है .कोई तो समझाए BJP को की ये भड़काऊ बयां न दे , इससे राजनाथ जैसे नेता को तो कुछ नही होगा लेकिन जो "आम आदमी " है उनकी जिंदगी में समस्याएं बढ़ जायेगी । में लोगो से भी गुजारिश करूँगा की लोग सावधान हो जाए और किसी और की बात ना सुन के अपना फैसला ख़ुद ले . आगे पढ़ें के आगे यहाँ

1 comment:

  1. और आज की सबसे बड़ी खबर यह है (हालाँकि वह अख़बार के चौथे पन्ने पर छोटी खबर थी) कि अजमेर की मजार पर अभिनव भारत नामक आतंकवादी संगठन ने आतंकी हमला किया था जिसमे कई लोगो की जाने गईं थीं.........

    यह एक कड़वा सच है कि बीजेपी अगर बाबरी मस्जीद को शहीद नहीं करती तो भारत एक अमन चैन का देश होता क्यूंकि यहाँ की जनता बहुत भोली और मिलनसार है चेह वो किसी भी धर्म या जाति के हों |

    वरुण गाँधी हालाँकि जीत जायेंगे मगर यह तय है कि उनका हाल भी विनय कटियार जैसा हो जायेगा|

    वैसे संजय जी आपसे एक सवाल, जवाब ज़रूर दीजियेगा मैंने कुछ दिन पहले एक पोस्ट किया था जिसमे आपने बीजेपी को वोट देने की बात कर रहे थे और यहाँ आप उसी की बुराई कर रहें हैं!?

    ReplyDelete

आपका बहुत - बहुत शुक्रिया जो आप यहाँ आए और अपनी राय दी,हम आपसे आशा करते है की आप आगे भी अपनी राय से हमे अवगत कराते रहेंगे!!
--- संजय सेन सागर

लो क सं घ र्ष !: राजीव यादव की सरकारी हत्या का प्रयास

आजादी के बाद से आज तक के इतिहास में पहली बार भोपाल कारागार से आठ कथित सिमी कार्यकर्ता कैदियों को निकाल कर दस किलोमीटर दूर ईटी  गांव में...