Thursday, April 23, 2009

दो दिल जहा मिलेगे..

दो दिल जहा मिलेगे । बरसात तो हो जायेगी॥
पहली ही मुलाकात में । कुछ बात तो बन जायेगी॥
सताएगी याद प्रिय की । तद्पएगी तन्हैया॥
चेहरा दिखाई देगा । मन भाये गी पर्छैया॥
फ़िर भी मिलेगे छुप कर..मंजिल नज़र आएगी॥
दो दिल जहा मिलेगे । बरसात तो हो जायेगी॥
दिल से दिल मिलेगा। नज़ारे कहेगी बातें॥
धड़कन बढेगी दिल की। आती रहेगी यादे॥
चुडियो की खान खानाहत। कानो को धुन सुनाये गी॥
दो दिल जहा मिलेगे । बरसात तो हो जायेगी॥
सच्चे है दोनों दिल के। पक्के बने पुजारी॥
तू है मेरी मंजिल । मैहूँ तेरा अटारी॥
सोते हुए सपने में। तेरी तस्वीर नज़र आएगी॥
दो दिल जहा मिलेगे । बरसात तो हो जायेगी॥
पहली ही मुलाकात में । कुछ बात तो बन जायेगी॥
संघर्स ख़त होगा । बन जायेगी साड़ी बात
सहमत की हवा चलेगी। ले आउगा मै बरात॥
मिलाने के वक्त तू। संघ चलने में शर्माएगी॥
दो दिल जहा मिलेगे । बरसात तो हो जायेगी॥
पहली ही मुलाकात में । कुछ बात तो बन जायेगी॥
होगा मिलन जब । आएगी शुभ रात॥
बाहों के हार का। पह्नायेगे माला जब॥
मेरी तेरी खुशी की। कलियाँ खिल खिलाएगी॥
दो दिल जहा मिलेगे । बरसात तो हो जायेगी॥पहली ही मुलाकात में । कुछ बात तो बन जायेगी॥

3 comments:

  1. वाह वाह क्या बात है दोस्त
    मजा आ गया
    अब रात भी हसीं हो गयी

    ReplyDelete
  2. वाह वाह क्या बात है दोस्त
    मजा आ गया
    अब रात भी हसीं हो गयी

    ReplyDelete

आपका बहुत - बहुत शुक्रिया जो आप यहाँ आए और अपनी राय दी,हम आपसे आशा करते है की आप आगे भी अपनी राय से हमे अवगत कराते रहेंगे!!
--- संजय सेन सागर

लो क सं घ र्ष !: राजीव यादव की सरकारी हत्या का प्रयास

आजादी के बाद से आज तक के इतिहास में पहली बार भोपाल कारागार से आठ कथित सिमी कार्यकर्ता कैदियों को निकाल कर दस किलोमीटर दूर ईटी  गांव में...