Tuesday, March 17, 2009

वरुण गांधी ने मुसलमानों के खिलाफ ज़हर उगला !

उत्तर प्रदेश के पीलीभीत संसदीय क्षेत्र से बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ रहे वरुण गांधी ने बरखेडा में चुनावी सभा के दौरान मुसलमानों के खिलाफ जमकर ज़हर उगला। उन्होंने देश के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को भी नहीं बख्शा। उनके इस आक्रामक तेवर से बीजेपी भी सकते में है। चुनाव आयोग ने उन्हें नोटिस भी जारी किया। वरुण ने हाल ही में अपने संसदीय क्षेत्र पीलीभीत में एक रैली में कहा था,
'यह हाथ नहीं है। यह कमल का हाथ है। यह मुसलमानों का सर काट देगा, जय श्रीराम।'

एक अन्य सभा में उन्होंने कहा,
'अगर कोई हिंदुओं की तरफ उंगली उठाएगा या समझेगा कि हिंदू कमजोर हैं और उनका कोई नेता नहीं हैं, अगर कोई सोचता है कि ये नेता वोटों के लिए हमारे जूते चाटेंगे तो मैं गीता की कसम खाकर कहता हूं कि मैं उस हाथ को काट डालूंगा।'
वरुण ने कहा,
'जो हाथ हिंदुओं पर उठेगा, मैं उस हाथ को काट दूंगा।'
वरुण गांधी ने देश के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को भी नहीं बख्शा। उन्होंने कहा, गांधीजी कहा करते थे कि कोई इस गाल पर थप्पड़ मारे तो उसके सामने दूसरा गाल कर दो ताकि वह इस गाल पर भी थप्पड़ मार सके। यह क्या है! अगर आपको कोई (मुसलमान) एक थप्पड़ मारे तो आप उसका हाथ काट डालिए कि आगे से वह आपको थप्पड़ नहीं मार सके।  

वरुण ने अपने विरोधियों पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा,
'हमारे पास जो उम्मीदवारों की जो लिस्ट है, उस पर सभी दलों के प्रत्याशियों के फोटो लगे हैं। समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार की तस्वीर देखकर मेरी मौसी की बेटी ने कहा कि भैया मुझे नहीं पता था कि आपके खिलाफ ओसाम बिन लादेन चुनाव लड़ रहा है।'
मैं यहाँ पर बताता चलूँ कि सपा से रियाज़ अहमद चुनाव लड़ रहें हैं| इस वरुण ने कहा,  

'भले ही अमेरिका ओसामा को नहीं खोज पाया, पर मैं इस ओसामा को मजा चखा कर छोड़ूंगा।'  

वरुण का यहाँ तक कहना है कि रात में अगर वह किसी मुसलमान की शक्ल देख लें तो बेहोश हो जायेंगे | बड़े ही डरावने लगते हैं ये मुसलमान |  

बीजेपी एमपी मेनका गांधी के बेटे वरुण के यह बयान बीजेपी को भी रास नहीं आए। बीजेपी नेता मुख्तार अब्बास नकवी ने इस बहाने कांग्रेस पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि वरुण के भाषण में उनके परिवार का कांग्रेसी अतीत झलकता है। इसमें बीजेपी की परंपरा नहीं दिखती। इससे पहले, सोनिया ने कहा था कि वरुण ऐसी पार्टी से जुडे़ हैं, जिसकी विचारधारा और संस्कृति अल्पसंख्यक विरोधी है।  

मैं आपको फिर बताता चलूँ कि वरुण ने हाल ही में अपने संसदीय क्षेत्र पीलीभीत में एक रैली में कहा था, 'यह हाथ नहीं है। यह कमल है। यह मुसलमान का सर काट देगा, जय श्रीराम।' एक अन्य सभा में उन्होंने कहा, 'अगर कोई हिंदुओं की तरफ उंगली उठाएगा या समझेगा कि हिंदू कमजोर हैं और उनका कोई नेता नहीं हैं, अगर कोई सोचता है कि ये नेता वोटों के लिए हमारे जूते चाटेंगे तो मैं गीता की कसम खाकर कहता हूं कि मैं उस हाथ को काट डालूंगा।'

अब आप ही बताईये कि क्या ऐसा होगा हमारा युवा भारत और क्या ऐसे होंगे हमारे भारत के युवा नेता??????

स्रोत: नवभारत टाईम्स

सारांश यहाँ आगे पढ़ें के आगे यहाँ

3 comments:

  1. मैं हाल में और आजकल अपने पैत्रिक ज़िला पीलीभीत जा रहा हूँ मैं पिछले दस साल से वहां नहीं गया था | जब वहां से लौट रहा था तो बहुत सरे फोटो खींचे और विडियो भी बनाई, सोचा था कि वक़्त मिलेगा तो इसे पोस्ट करूँगा और अपने पीलीभीत के बारे में खूब अच्छा अच्छा लिखूंगा!

    मगर मुझे बेहद अफ़सोस हो रहा है कि अपने ज़िले की ख़बर का यह पहला पोस्ट है और वो भी ऐसा की शर्म आती है मुझे | वरुण उसी मेनका का बेटा है जिसे पीलीभीत के सभी लोगों ने बहुत प्यार दिया चाहे वो किसी धर्म के हो, हमारे घर के सभी वोट्स मेनका को ही पड़ते थे | उसकी अन्य वजह हो सकती हैं मगर एक बहुत बड़ी वजह थी कि स्वर्गीय संजय गाँधी जी से मेरे चाचा अब्दुल सत्तार खान के बहुत घनिष्ठ सम्बन्ध थे और वे बाद में संजय मंच से सक्रीय रूप से जुड़े थे और विधायक का चुनाव भी लड़े थे|

    आज उसी व्यक्ति के बेटे के मुहं से ऐसा सुन कर बहुत अफ़सोस होता है !

    ReplyDelete
  2. सब राजनीति है !
    इनकी सोच छोटी है और बातें बड़ी,सब प्रसिद्धि पाने का हथकंडा है !

    ReplyDelete
  3. मुसलमानों को सीढी बनाकर राजनीति मे ऊँचा कद हासिल करना कहते हैं।
    यह कृत्य उनकी अमानुषता को दर्शाता है।

    ReplyDelete

आपका बहुत - बहुत शुक्रिया जो आप यहाँ आए और अपनी राय दी,हम आपसे आशा करते है की आप आगे भी अपनी राय से हमे अवगत कराते रहेंगे!!
--- संजय सेन सागर

लो क सं घ र्ष !: राजीव यादव की सरकारी हत्या का प्रयास

आजादी के बाद से आज तक के इतिहास में पहली बार भोपाल कारागार से आठ कथित सिमी कार्यकर्ता कैदियों को निकाल कर दस किलोमीटर दूर ईटी  गांव में...