Wednesday, March 25, 2009

हमारे और तुम्हारे में बस फ़र्क़ है इतना !

Everything is God. कुछ लोगों का ईश्वर के बारे में मानना यह है कि "सबकुछ ईश्वर है|" 

सबकुछ में ईश्वर है जैसे -हवा, पानी, पेड़, गाय, बैल, हम, तुम, चोर, डाकू आदि| अर्थात सबकुछ में ईश्वर है| ईश्वर सर्व व्याप्त है | लेकिन वेद, उपनिषद कहते हैं- "ब्रह्म ने ही इस पूरी सृष्टि को बनाया है|" Everything is God's. इस्लाम कहता है "सबकुछ ईश्वर का है|" 

सबकुछ ईश्वर ने बनाया है| वह सर्वशक्तिमान है | मगर सबमें नहीं है | उसने सबको बनाया है| मुझको, आपको, हमारे माँ-बाप को, हमारे दादा-परदादा को और इस आकाश को, धरती को, पानी को, हवा को | सबको| वेद और कुरान में हिन्दुज़्म और इस्लाम में बहुत समानताएं हैं |

और इस एक असमानता को दूर करके हमें समानताओं को लेकर आगे बढ़ना चाहिए | अगर हम ऐसा करते हैं, इंशा अल्लाह भारत देश ज़रूर 2020 तक विश्व शक्ति ज़रूर बन जायेगा |

1 comment:

  1. bahut अच्छा लिखा है आपने. धन्यवाद.

    ReplyDelete

आपका बहुत - बहुत शुक्रिया जो आप यहाँ आए और अपनी राय दी,हम आपसे आशा करते है की आप आगे भी अपनी राय से हमे अवगत कराते रहेंगे!!
--- संजय सेन सागर

लो क सं घ र्ष !: राजीव यादव की सरकारी हत्या का प्रयास

आजादी के बाद से आज तक के इतिहास में पहली बार भोपाल कारागार से आठ कथित सिमी कार्यकर्ता कैदियों को निकाल कर दस किलोमीटर दूर ईटी  गांव में...