Thursday, March 19, 2009

पाकिस्तान में बलात्कार की शिकार सक्रियवादी ने विवाह किया


एक पाकिस्तानी महिला, जो अपने सामूहिक बलात्कार का मामला अदालत में ले जाने के कारण महिलाधिकारों का प्रतीक बन गईं हैं, उन्होंने विवाह कर लिया है.मुख़्तारन माई ने रविवार को पुलिस अधिकारी नासिर अब्बास गेबोल से विवाह करके सारी परंपराएं तोड़ दीं. सात वर्ष पहले उन पर सामूहिक बलात्कार का मामला सामने आने के बाद वह सुर्ख़ियों में आ गईं थीं, तब श्री गेबोल को उनकी सुरक्षा का भार सौंपा गया था.सुश्री माई ने सन 2002 में उनका सामूहिक बलात्कार करने वाले पुरुषों के विरुद्ध क़ानूनी कार्यवाही करके स्थानीय परंपराओं को चुनौती दी थी. उनके छोटे भाई पर लगाए गए अरोपों का बदला लेने के लिए आदिवासी परिषद ने उनके सामूहिक बलात्कार के आदेश दिए थे. वह आरोप कभी सिद्ध नहीं किए जा सके.पाकिस्तान में बलात्कार का शिकार महिलाएं कलंकित कहलाती हैं और आपराधिक आरोप लगाने वाली महिलाओं की संख्या अधिक नहीं होती. ऐसी महिलाओं के विवाह नहीं होते और निराश होकर वह आत्म हत्या कर लेती हैं.सुश्री माई के पति के हवाले से एसोसियेटेड प्रेस ने कहा कि वह उनकी “भारी हिम्मत” से प्रभावित हैं. आगे पढ़ें के आगे यहाँ

1 comment:

आपका बहुत - बहुत शुक्रिया जो आप यहाँ आए और अपनी राय दी,हम आपसे आशा करते है की आप आगे भी अपनी राय से हमे अवगत कराते रहेंगे!!
--- संजय सेन सागर

लो क सं घ र्ष !: राजीव यादव की सरकारी हत्या का प्रयास

आजादी के बाद से आज तक के इतिहास में पहली बार भोपाल कारागार से आठ कथित सिमी कार्यकर्ता कैदियों को निकाल कर दस किलोमीटर दूर ईटी  गांव में...